Maan si kta

Victoria Park की क्यॉरियों में घूमते घूमते दोनों करीब हो गए ।  यहाँ कोई रिस्तेदारों का आना जाना नहीं हैं, और ना ही कोई भकोस लेने वाले… Read more “Maan si kta”

प्रेम

प्रिये, तुम्हारे नाम के साथ कुछ जोड़ने की हिम्मत नहीं है मेरी, न ही कुछ और जोड़ना मैं जरुरी समझता हूँ। तुम्हारा नाम लेने के साथ जो… Read more “प्रेम”

आज

साहित्य जो आज के समय में ज़िंदगी में कोई अहमियत नही रखता , उसके लरखराते कदमो को सहारा देना बहुत जरुरी हैं। ये समय साहित्य की चर्चा… Read more “आज”